Aam Admi Party Arvind Kejriwal Mukesh Ambani Yogendra Yadav Latest News In Hindi

Image

आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा है कि अगर मुकेश अंबानी की ओर से उनकी पार्टी को चंदा मिले तो इसे लेने में पार्टी को कोई दिक्‍कत नहीं होगी। उन्‍होंने कहा है कि मुकेश अंबानी के चंदे पर भी सामान्‍य प्रक्रिया लागू होगी। अगर दस लाख रुपए से कम चंदा हुआ तो इसे मुंबई के लोग (पार्टी के) सीधे स्‍वीकार कर सकते हैं और अगर रकम ज्‍यादा हुई तो पार्टी की पीएसी इस पर फैसला लेगी। 

 
दिलीप पांडे, प्रवक्‍ता, आप ने कहा, ‘हमें ऑनलाइन कोई भी व्‍यक्ति चंदा देता है तो हम उसे ट्रैक नहीं कर सकते। चाहे वह मुकेश अंबानी ही क्‍यों न हों। सबसे बड़ा सवाल यह है कि ‘क्‍लीन मनी’ हो।
 

 

Latest News In Hindi 1984 Anti Sikh Riots Sikh Organization Protest Against Congress

1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर कांग्रेस ऑफिस के बाहर सिख संगठनों ने जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी हाथों में काले झंडे लेकर हाय-हाय के नारे लगा रहे थे। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेड्स लगाए। गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने एक बैरिकेड भी तोड़ दिया। (यह भी पढ़ें- लग रहे थे खून के बदले खून के नारे )

http://www.bhaskar.com/article/NAT-latest-news-in-hindi-1984-anti-sikh-riots-sikh-organization-protest-against-cong-4507017-NOR.html

 

सिख संगठन कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के हाल ही में एक इंटरव्‍यू में दिए गए बयान को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। राहुल ने इंटरव्‍यू में स्‍वीकार किया था कि 1984 के सिख विरोधी दंगों में कुछ कांग्रेसी शामिल रहे होंगे। इन संगठनों की मांग है कि राहुल इन कांग्रेसियों के नाम बताएं और उनके खिलाफ कार्रवाई करें। प्रदर्शन कर रहे संगठनों में अकाली दल और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (SGPC) के लोग शामिल थे। उनकी ये भी मांग है कि सीबीआई राहुल का बयान दर्ज करे।
 
दूसरी ओर, देश के कई मौलानाओं ने भी कांग्रेस के खिलाफ प्रदर्शन और सोनिया व राहुल के चुनाव क्षेत्रों में उनके खिलाफ काम करने की धमकी दी है। मौलानाओं का आरोप है कि दिल्ली में वक्फ बोर्ड की जमीन को हथियाने में कांग्रेसियों की साजिश है।
 
 

for more news at www.bhaskar.com

AAP Completes One Month: Arvind Kejriwal Promises In One Governance?

अरविंद केजरीवाल सरकार का एक महीना पूरा हो गया है। उन्‍होंने 28 दिसंबर 2013 को दिल्ली के 7वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी। केजरीवाल ने सीएम बनने के 48 घंटे के भीतर ताबड़तोड़ फैसले लेते हुए 666 लीटर मुफ्त पानी और बिजली की दरों में 50 फीसदी कमी करने का एलान कर विपक्षियों के होश उड़ा दिए थे।

http://www.bhaskar.com/article-ht/NAT-aap-completes-one-month-arvind-kejriwal-promises-in-one-governance-4504386-PHO.html

 

केजरीवाल सरकार ने एक महीने में लिए ये अहम फैसले 
 
* 666 लीटर पानी मुफ्त किया और बिजली 50 फीसदी सस्‍ती की  
* केजरीवाल ने सुरक्षा लेने से इनकार किया  
* बिजली कंपनियों का ऑडिट कराने के आदेश दिए 
* मिलेनियम बस डिपोट को यमुना बैंक से हटाया गया 
* रिटेल में एफडीआई के फैसले का विरोध किया 
* भ्रष्‍टाचार निरोधी हेल्‍पलाइन नंबर जारी किया  
* नर्सरी एडमिशन के लिए हेल्‍पलाइन नंबर जारी किया 

* दिल्‍ली जल बोर्ड के 800 से अधिक अफसरों और कर्मचारियों के तबादले 

 

For more news at bhaskar.com

Aap Aam Admi Party Arvind Kejriwal Protes Against Delhi Police Shinde

Image

दिल्‍ली पुलिस को केंद्र सरकार के बजाय दिल्‍ली सरकार के अधीन किए जाने की मांग को लेकर दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा आंदोलन किए जाने को उनकी राजनीति चमकाने का एक हथकंडा माना जा रहा है। हालांकि, केजरीवाल इसे आजादी की दूसरी लड़ाई बता रहे हैं। वह कह रहे हैं कि यह आंदोलन दिल्‍ली पुलिस की ज्‍यादती, निष्क्रियता और घूसखोरी के शिकार हर नागरिक के लिए हैं। लेकिन, एक्‍सपर्ट्स उनके इस कदम पर सवाल उठा रहे हैं। कई समर्थक भी इस तरह के आंदोलन को गलत बता कर उनसे बिदकते लग रहे हैं। 
 
केजरीवाल के ताजा आंदोलन पर क्या है राय 
 
‘अगर दिल्ली पुलिस को केजरीवाल की सरकार के मातहत कर दिया जाए तो किसी दिन वे पूरी फोर्स को ही सस्पेंड कर देंगे। पुलिस वालों का तबादला करते रहना कोई समाधान नहीं है। क्या वे अवैध निर्माण को रोक सकते हैं। सस्पेंड करने का मुद्दा सम्मान से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के तहत काफी आजाद महसूस करती है। अगर इसे दिल्ली सरकार के तहत लाया जाएगा तो विधायक दखल देने लगेंगे। मौजूदा ढांचा कामयाब है। केंद्र से फंड वगैरह भी अच्छा मिलता है।’

Devyani Khobaragare Dispute Latest News

Image

भारत ने अमेरिका को एक बार फिर जैसे को तैसा वाले अंदाज में जवाब दिया। मामला राजनयिक देवयानी खोब्रागडे से जुड़ा है। अमेरिका ने वीसा धोखाधड़ी मामले में देवयानी को राहत देने से इनकार कर दिया। कहा, मुकदमा चलेगा। नाराज भारत ने तुरंत कार्रवाई की। देवयानी को देश वापस बुलाया। इसके बाद एक अमेरिकी राजनयिक को निष्कासित कर दिया। उसे देश छोडऩे के लिए 48 घंटे का वक्त दिया गया है। आरोप है कि इस राजनयिक ने देवयानी की गिरफ्तारी से दो दिन पहले उनकी नौकरानी के तीन सदस्‍यों को भारत से बाहर भेजने में मदद की थी। भारत के इस सख्‍त कदम पर ओबामा प्रशासन नाराज हो गया है।