Ukraine Anti Government Protest Became Violent

http://www.bhaskar.com/article/INT-ukraine-anti-government-protest-became-violent-4526367-PHO.html यूक्रेन में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के सबसे हिंसक दिन के बाद बुधवार को सुबह सरकार और विपक्ष के बीच बातचीत विफल हो गयी है। विपक्षी नेता विताली क्लिस्चको ने कहा कि हिंसा खत्म करने के लिए राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच के साथ उनकी बातचीत विफल रही है। 

 
हिंसा के बाद बुधवार को प्रदर्शनकारियों ने कुछ शहरों में सरकारी इमारतों पर कब्जा कर लिया है। पुलिस ने एक बयान में बताया कि प्रदर्शनकारियों ने इवानो फ्रैंकिव्स्क और लिव में क्षेत्रीय प्रशासनिक मुख्यालयों पर कब्जा कर लिया है। 
 
विपक्षी सांसद ओलेक्जेंडर एरोनेट्स ने अपने फेसबुक अकाउंट पर दावा किया है कि प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय प्रॉसिक्यूटर के कार्यालय पर भी कब्जा कर लिया है और यूक्रेन के नायकों के खिलाफ सभी मुकदमों के कागजात जला दिये हैं।
 

इधर, बातचीत के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कड़ा रूख अपनाते हुए कहा, कि रैली में हथियार लाकर उन्होंने सीमा लांघ दी है

 

for more details at www.bhaskar.com

Advertisements

Organ Care System Keeps Organs Breathing Before Transplants

http://www.bhaskar.com/article/INT-organ-care-system-keeps-organs-breathing-before-transplants-4519880-NOR.html

मेडिकल डिवाइस बनाने वाली कंपनी ‘ट्रांसमेडिक्स’ ने एक ऐसी मशीन तैयार की है, जो ट्रांसप्लांट के लिए निकाले गए अंगों को ज्यादा समय तक जिंदा रखेगी। मशीन का नाम ‘ऑगर्न केयर सिस्टम’ रखा गया है। डोनर के शरीर से फेफड़े को निकालकर किसी जरूरतमंद के शरीर में लगाया जाने की प्रक्रिया के बीच इस मशीन के जरिए अंग को जिंदा रखा जाएगा। अभी तक, डोनर के शरीर से निकाले गए अंगों को बेहद कम तापमान वाले विशेष बॉक्स में एक से दूसरी जगह ले जाया जाता है। 
 
मैसाचुसेट्स के एंडोवर स्थित ‘ट्रांसमेडिक्स’ कंपनी ने प्रयोगात्मक तौर पर यह डिवाइस तैयार की है। यह डिवाइस फेफड़े में खून और ऑक्सीजन भेजती रहेगी, जिससे फेफड़ा शरीर के बाहर भी जिंदा रह सकेगा। इसे अभी तक अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से मंजूरी नहीं मिली है, लेकिन आठ अस्पतालों में इसका क्लिनिकल ट्रायल किया जा रहा है। ट्रांसमेडिक्स, दिल के लिए भी इसी तरह की डिवाइस तैयार कर रही है।

for more details visit on www.bhaskar.com

hindi international news: Australian Wildfires Destroy Homes

http://www.bhaskar.com/article-ht/INT-australian-wildfires-destroy-homes-28-blazes-across-victoria-4517624-PHO.html

ऑस्ट्रेलिया के दक्षिण-पूर्वी जंगलों में लगी आग से 20 घर जलकर राख हो गए हैं। तेजी से फैल रही आग से ऑस्ट्रेलिया के दूसरे सबसे बड़े शहर मेलबर्न को खतरा पैदा हो गया है। विक्टोरिया स्टेट फायर अथॉरिटी के मुताबिक 6000 से ज्यादा दमकलकर्मी आग पर काबू पाने में जुटे हुए हैं। इसे 2009 में लगी आग के बाद सबसे खराब स्थिति माना जा रहा है, जिसमें 173 लोगों की मौत हो गई थी। 7 फरवरी, 2009 को लगी आग में एक ही दिन में 2,000 से ज्यादा घर नष्ट हो गए थे और 414 लोग घायल हुए थे। 

 
फायर कमिश्नर क्रैग लैप्सले के मुताबिक, आग इतनी ज्यादा तेजी से फैल रही है कि उसपर नियंत्रण पाना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने बताया कि 28 जगहों पर स्थिति काफी गंभीर है, जिनमें विक्टोरिया के कुछ हिस्से भी शामिल हैं। 

for more details www.bhaskar.com

28 Anti-Government Protesters Wounds In Thai Capital Blast

  Image   

थाईलैंड में जारी सरकार विरोधी प्रदर्शनों में हिंसा का दौर खत्म नहीं हो रहा। राजधानी बैंकॉक में आज हुए धमाके में 28 प्रदर्शनकारी घायल हो गए हैं। स्थानीय पुलिस के मुताबिक धमाका उस वक्त हुआ जब सैकड़ों प्रदर्शनकारी विपक्षी नेता सुथेप थागसुबान के साथ रैली निकाल रहे थे। शहर के बीच स्थित चुलालोंगकोर्न यूनिवर्सिटी के नजदीक से गुजर रहे प्रदर्शनकारियों के बीच विस्फोटक से फेंका गया। घायलों को इरावन मेडिकल सेंटर में भर्ती करवाया गया है।   

 

धमाके में विपक्ष के नेता सुथेप थागसुबान को चोट नहीं पहुंची है। रैली आयोजित करवाने वाले दल के प्रवक्ता अकानात प्रोम्फैन ने रॉयटर्स को बताया, “जिस जगह धमाका हुआ, सुथेप वहां से 30 मीटर की दूरी पर थे।”

 

India Get Second Position When It Comes To Female Smoking

Image

भारतीय महिलाएं धूम्रपान करने के मामले में अमेरिकी महिलाओं के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर आ गई हैं। भारत में अब 1.21 करोड़ से ज्यादा महिलाएं बीड़ी-सिगरेट पीती हैं। यह निष्कर्ष ‘स्मोकिंग प्रिवलेंस एंड सिगरेट कंजम्पशन इन 187 कंट्रीज, 1980-2012’ नामक रिपोर्ट के हैं। रिपोर्ट जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के आठ जनवरी के अंक में प्रकाशित हुआ है। 

 साल 2012 में दुनियाभर में रोज 96.7 करोड़ लोग सिगरेट पीते थे। जबकि 1980 यह संख्या 72.1 करोड़ थी। दुनियाभर में हर साल छह लाख करोड़ सिगरेटों की खपत होने लगी है। 2012 में ही 75 देशों में लोग औसतन 20 सिगरेट रोज पी रहे थे।